सफ़ेद दाग के उपचार में स्टेरॉयड की साइड इफ़ेक्टस

स्टेरॉयड दवाई का इस्तेमाल अलग अलग बीमारियों में अलग अलग रूप जैसे की टेबलेट इंजेक्शन व् क्रीम में दिया जाता है. स्टेरॉयड का इस्तेमाल खास कर ऐसी बीमारियों में किया जाता है जहा मरीज को अस्थमा , टी.बी. , एड्स कॅन्सर है |

आज हर डॉक्टर स्टेरॉयड का इस्तेमाल करना छोटी बीमारी में भी कर रहे है जो मरीज की सेहत के लिए अच्छा नहीं है.: स्टेरॉयड दवाई का इस्तेमाल छोटी अवधि के लिए ही किया जाना चाहिए अगर इसे बिना कोई कारन और रिजल्ट 30 दिन से ज्यादा दिया जाये तो हो सकता है इसकी साइड इफ़ेक्ट आपको देखने को मिले |

  • स्किन की तकलीफ जैसे की: सोरायसिस, एक्जिमा, विटिलिगो, ichen Planus आदि
  • दमा
  • अल्सरेटिव कोलाइटिस

अगर लम्बी अवधि के लिए स्टेरॉयड का इस्तेमाल किया जाये तो :

स्टेरॉयड दवाई की साइड इफ़ेक्ट लम्बे समय के बाद देखने को मिलती है, मरीज अगर आज स्टेरॉयड दवाई इस्तेमाल सफ़ेद दाग को मिटने के लिए कर रहा है तो उसे सायद रिजल्ट भी मिलेगा लेकिन जैसे ही आप स्टेरॉयड दवाई बंद करेंगे हो सकता है आप की बीमारी वापस आ जाये. साथ में स्टेरॉइड्स की साइड इफ़ेक्ट भी देखने को मिलेगी |

आदत हो जाना : स्टेरॉयड की एक सबसे बड़ी साइड इफ़ेक्ट ये है की स्टेरॉयड दवाई लेने के बाद ये दवाई रोज लेने की आदत हो जाती है, एक बार स्टेरॉयड इस्तेमाल करने के बाद रिजल्ट मिलता है जैसे ही दवाई बंद करेंगे बीमारी वापस आती है यहाँ मरीज कभी कभी डॉक्टर को दिखाए बगैर स्टेरॉयड की दवाइया चालू रखता है और वक़्त जाते ये दवाइया रोज खाने की आदत हो जाती है और जरुरत बन जाती है |

रिबाउंड इफ़ेक्ट(बीमारी वापस आना और बीमारी का बढ़ जाना): एक और साइड इफ़ेक्ट जो स्टेरॉयड दवाई के इस्तेमाल से होता है वो ये है की जब आप स्टेरॉयड दवाई बंद करेंगे आप की बीमारी वापस आजायेगी और हो सकता है बीमारी बढ़ भी जाये. अगर स्टेरॉयड को सफ़ेद दाग ,विटिलिगो या सोरयासिस में आपने इस्तेमाल किया है तो जब ये स्टेरॉयड दवाई आप छोड़ेंगे बीमारी पलटकर वापस आजायेगी और नए सफ़ेद दाग और सोरयासिस के दाग भी देखने को मिले. ये नए दाग या बढ़ी हुई बीमारी की ताकत ज्यादा होती है जो ठीक करने में काफी वक़्त लगता है. जब आप को ये नए दाग ठीक करना है हो सकता है आपको स्टेरॉयड दवाई की मात्रा बढ़ा कर देनी पड़े और साइड इफ़ेक्ट होने के चान्सिस भी बढ़ जाते है |

रोगप्रतिकारक शक्ति घटना : स्टेरॉयड एक इम्मुनोसुप्रेस्सिव् मेडिसिन दवाई है जिसका इस्तेमाल लम्बे समय करने से आप की रोग प्रतिकारक शक्ति कम हो जाएगी. अगर आप की रोग प्रतिकारक शक्ति कम होजायेगी तो दूसरी बीमारी इन्फेक्शन लगने का खतरा बढ़ जायेगा |

सफ़ेद दाग के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए :

सफ़ेद दाग के बारे में सब कुछ