सायक्लोस्पोरिन की साइड इफ़ेक्ट सोरायसिस में

सायक्लोस्पोरिन एक इम्मुनो सप्रेसन्ट दवाई है जिसका इस्तेमाल ज्यादातर किडनी ,लिवर या हार्ट ट्रांसप्लांट में होता है |

सायक्लोस्पोरिन के बहोत ही गंभीर साइड इफ़ेक्ट जो हमने अपने बेरीज़ क्लिनिक में देखे है जिस्मसे कुछ यहाँ आपकी जानकारी के लिए बताया है |

सायक्लोस्पोरिन एक अच्छी दवाई इम्मुनो सप्रेसन्ट है लेकिन इसके इस्तेमाल से भविस्य में केन्सर होने के चान्सिस बढ़ जाते है |

कुछ ऐसी साइड इफ़ेक्ट जिसमे आपको तत्काल डॉक्टर का संपर्क करना पड़ेगा :

  • हाइपरटेंशन जो मरीज सायक्लोस्पोरिन दवाई ले रहे है उनमेसे 50% मरीज को हाई ब्लड प्रेशर होता हाई जो आगे जाके हार्ट की बीमारी के शिकार होते है
  • किडनी के फंक्शन डिस्टर्ब होते है ,पेशाब जाने की मात्रा कम या ज्यादा होती है या फिर एक बार में पेशाब नहीं होती
  • गले में इन्फेक्शन और बहोत ठण्ड लगना
  • पीलिया (जॉन्डिस ) की तरफ स्किन पिली होना , पेशाब के कलर में चेंज आना ,मल का कलर काला हो जाना
  • स्वभाव में बदलाव आना ,हतासा का अनुभव होना ,चक्कर आना
  • बदन में सूजन आना और वजन बढ़ना

अगर आपको सायक्लो स्पोरिन दवाइया लेनी है तो दवाई शरू करने से पहले जे जरूर चेक करे :

  • जो मरीज को किडनी की तकलीफ है , ब्लड प्रेशर है या केन्सर जैसी बीमारी है वो मरीज ये दवाई नहीं ले सकता
  • सोरायसिस का मरीज जिसने पहले PUVA,UVB,COAL TAR ,METHOTRAXATE लिया है वो मरीज में केन्सर होने की सम्भावनाए बढ़ जाती है |
  • अगर आप सायक्लोस्पोरिन दवाइया ले रहे है और किसी तरह का वेक्सीन आपने लिया तो वह काम नहीं करेगा
  • अपने डॉक्टर से सलाह लिए बिना कोई नया ट्रीटमेंट चालू न करे, बेहतर ये होगा आप एक लिस्ट अपने पास रखे दवाइओ की जो आपने इस्तेमाल की है इलाज के लिए वो डॉक्टर को दे और उनकी सलाह से ही आगे बढे

ज्यादा जानकारी के लिए :

सोरायसिस के बारे में सब कुछ