अपने सोरायसिस को स्वीकारे

अपने सोरायसिस को स्वीकारे

सोरायसिस एक स्किन की प्रॉब्लम है जो सामान्य रूप से मरीज की पर्सनालिटी और आत्मविश्वास को ठेस पोहचाता है | मरीज अपनी स्किन में होने वाले बदलाव से ज्यादा चिंतित रहता है |

ज्यादातर मरीज अपने सोरायसिस के दाग को छुपाने के लिए ज्यादा मेहनत करते है,काफी सारे इलाज करने के बाद मरीज को ये मालूम है की सोरायसिस नहीं मिटेगा और इस वजह से कोई भी दवाई या इलाज मरीज नहीं करवाएगा, हो सके उतना छुपाना ही बेहतर समझता है |

सोरायसिस के मरीज की ये शिकायत रहती है की सोसाइटी उन्हें अपनाना नहीं चाहती सच तो ये है की मरीज खुद अपने सोरायसिस को स्वीकार करने के लिए सहमत नहीं है और हमेशा अपने आप को दूसरे लोगो या सोसाइटी से दूर रखता है |

मुझे ये मालूम है की ये कहना बहोत ही आसान है लेकिन इतना ही कठिन है इसे इम्पलीमेन्ट करना.अगर आपने अपने सोरायसिस को स्वीकार कर लिया और अपने आप को लड़ने के लिए तैयार कर लिया तो ये आप के लिए बहोत ही आसान हो जायेगा और आपका आत्मविश्वास भी बढ़ जायेगा | अगर आपने सोरायसिस से लड़ने की सोच ली और मिटाना चाहते है तो आप के लिए बाकि सारी चीजे व् सोच मायने नहीं रखती |

ज्यादा जानकारी के लिए :

सोरायसिस के बारे में सब कुछ